Top Two line Love shayari hindi 2017

0
Top Two Line Love Shayari Hindi  2017 . Do Line Ki Love Shayari Hindi Me. Facebook Ke Line Ki Shayari For Love. Two Line Love Shyari For You Girlfriends And Boyfriends. Do Line Ki Shayari Apne Pyar Ke Liye. Do Line Ki Love Shayari Apne Pyar Ladke Ya Ladki Ke Liye. Do Line Si Sabse Achi Shayari.
Top Two line Love shayari hindi  2017

Dil Se Tumhe Bhulane Ki Koshish Karenge Hum
Tum Se Bhi Ho Sake To Na Aana Khayalon Me

क्या लिखूँ दिल की हकीकत आरज़ू बेहोश है,
ख़त पर हैं आँसू गिरे और कलम खामोश है..

वो कागज का पन्ना आज भी तेरी खुश्बू से महक रहा हैँ,
जिस पर कभी तुमने मजाक मे I Love You लिखा था..

नफरत करना तो कभी सिखा ही नही,
हमने दर्द को भी चाहा है अपना समझकर..

मैंने समुन्दर से सीखा है जीने का सलीका,
चुपचाप से बहना और अपनी मौज में रहना..

तुम सी मोहब्बत हम
खुद से भी न कर पाये..!!

सपने और हक़ीक़त का खेल तो देखिए,
जो सपने में हमारे थे
हक़ीक़त में वो किसी ओर के हो गऐ।
 
" सहरा की चमक रेत को पानी समझ लिया |
सुखी हुई दरिया को रवानी समझ लिया |
पथराने लगी आँख तेरे इन्तजार में,
हमने इसी को तेरी निशानी समझ लिया || "

Teri Har Baat M Mera Hi Zikr Ho...
Teri Hr Nazr M Mera Hi Chehra Ho...
Bhagwan Kare Muj Jaisi Ashiqui Tujje Bhi Ho...
Toh Teri Hr Adaa M Bs Meri Hi Jhalak Ho..

तारीफ़ अपने आप की, करना फ़िज़ूल है,
ख़ुशबू तो ख़ुद ही बता देती है, कौन सा फ़ूल है.

अब किसी को न कहूँगा, आने को मेरी ज़िन्दगी में
कम्बख्त ये दिल कब तक दर्द बर्दाश्त करेगा।

Tum Jante Ho Ki Hum Tumhare #Intezaar Mein Hai
Isliye Shayad Tum Der Laga Rahe Ho,
#Waqt Kat-Ta Nahin Tumhare Bina Hamara..
Yeh Jante Huye Bhi Hame Sata Rahe Ho,
Na Jane Kya Milta Hai Tumko Hame Yun Sata Kar
Jo Der Se Akar Bhi Tum Muskara Rahe Ho....

करनी है तो दर्द की साझेदारी कर ले,
मेरी खुशियों के तो दावेदार बहुत हैँ..

मैंने तो माँगा था थोड़ा सा उजाला अपनी जिंदगी में;
वाह रे चाहने वाले तूने तो आग ही लगा दी जिंदगी में!

जुदा होना इतना आसान होता,
तो जिस्म से रूह को लेने कभी फरिश्ते नही आते..

Tujje Bnakr Khuda Ne Jo Nek Kaam Kia H...
Tujse Mila Kr Khuda Ne Jo Karz Kia H...
Tere Jaisa Humsfr Dekr Khuda Ne Jo Nek Dili Ki H...
Mujje Smj Ni Ata M Tera Karzdar Hoon Ya Khuda Ka..

आईना आज फिर रिशवत लेता पकडा गया,
दिल में दर्द था ओर चेहरा हंसता हुआ पकडा गया..



इतनी मोहब्बत भर देंगे मेरे अल्फाज हर पन्ने में
तेरा चेहरा हर शख्स को अल्फाजो में नजर आएगा

फूल कहूँ या काँटा, ये तो किस्मत का लेखा है। 
जब जब तेरी नज़र मुझसे मिली, तब तब मेने अपने आप को शीशे में देखा है। 
लेकिन शायद कोई गुनाह किया है मैंने ऐ ज़िन्दगी 
क्योकि तू तो बोहोत खूबसूरत है 
लेकिन 
मेरा चेहरा एक कांटे जैसा है।

इतना ऐतबार तो अपनी धड़कनो पर भी हमने ना किया,
जितना उस बेवफा कि बातों पर करते थे.

जुदा होना इतना आसान होता,
तो जिस्म से रूह को लेने कभी फरिश्ते नही आते..

दिल की ख़ामोशी पर मत जाओ,
राख के नीचे आग दबी होती है..

मैं तेरे नसीब की बारिश नहीं जो तुझ पर बरस जाऊँ ... 
 तुझे तकदीर बदलनी होगी मुझे पाने के लिए…

Chand Tare Zameen Par Lane Ki Zid Thi,
Hamein Unko Apna Banane Ki Zid Thi,
Achcha Hua Woh Pehle Hi Ho Gayi Bewafa,
Warna Unhe Pane Ko Zamana Jalane Ki Zid Thi.

Shayari Pasand Aayi Tho Apne Love  Ke Sath Share Kare 

एक टिप्पणी भेजें

0टिप्पणियाँ
एक टिप्पणी भेजें (0)

#buttons=(Accept !) #days=(20)

Our website uses cookies to enhance your experience. Learn More
Accept !